अधिसूचना जारी होने से पहले इस वजह से हटेंगे ग्राम प्रधानों के बोर्ड


लखनऊ:पंचायत चुनाव की तैयारियां अंतिम चरण में हैं. अधिकारियों की माने तो फरवरी के आखिरी सप्ताह में पंचायत चुनाव का ऐलान कर दिया जाएगा. 15 मार्च से 30 मार्च की बीच चुनाव सम्पन्न कराने की योजना है.

चुनाव के तारीखों के ऐलान से पहले गांवों में जिन बोर्ड पर प्रधानों के नाम लिखे हैं. उन्हें पुतवाने का निर्देश दिया गया है. यह काम जिला पंचायत राज विभाग की तरफ से किया जाएगा.

दरअसल, ग्राम प्रधानों का कार्यकाल 25 दिसंबर को ही खत्म हो चुका है. पंचायती राज विभाग के अनुसार जब प्रधान पद का कार्यकाल खत्म हो गया है तो कोई भी व्यक्ति अपने नाम के आगे प्रधान पद नहीं लिखा सकता है.

पंचायती राज मंत्री भूपेंद्र सिंह के मुताबिक ग्राम सभाओं के पुनर्गठन का कार्य पूरा हो चुका है. वार्डों का परिसमीन जारी है. प्रदेश के 4 जिले मुरादाबाद, गोंडा, संभल और गौतमबुद्धनगर का पूर्ण परिसीमन हो रहा है और बाकी जिलों का आंशिक परिसीमन जारी है. 14 जनवरी तक परिसीमन का कार्य पूरा हो जाएगा. 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ